Admission-For-Engineering-Students

इंजीनियरिंग (Engineering) समस्याओं को हल करने के लिए वैज्ञानिक ज्ञान का अनुप्रयोग है। इंजीनियरिंग समस्या को हल करने, डिजाइनिंग और चीजों के निर्माण के माध्यम से जीवन में आने के लिए इस समझ को सक्षम बनाता है।

इंजीनियरिंग में प्रवेश, स्कोप, करियर, नौकरियां, वेतन की जानकारी

वे छात्र / छात्राएं जो 12वीं गणित (Maths) की परीक्षा उत्तीर्ण कर चुकें हों| और इंजीनियरिंग में रुचि रखते हों उनके लिए इंजीनियरिंग करियर ऑप्शन सबसे सही चयन है | इंजीनियरिंग कोर्स 4 वर्षों की अवधि का होता है |

इंजीनियरिंग में प्रवेश:

इंजीनियरिंग (Engineering) में प्रवेश के लिए सम्बन्धित जानकारी नीचे दी गई है |

  • छात्रो / छात्राओं को इंजीनियरिंग कोर्स में प्रवेश करने के लिए गणित (Maths) भौतिक विज्ञान (Physics), और रसायन विज्ञान (Chemistry), के साथ अपनी 10 + 2 शिक्षा पूरी करनी होगी और न्यूनतम 50% अंको का स्कोर प्राप्त करना होगा | और आरक्षित वर्ग के छात्रो को न्यूनतम 45% अंको का स्कोर करना होगा |
  • भारत में, इंजीनियरिंग में प्रवेश रैंक के आधार पर होता है, जो अव्वल रहने वाले छात्र  है, उनको पहले कॉलेजों में सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाती है। संयुक्त इंजीनियरिंग परीक्षा जी मेन (JEE Main) और एडवांस (Advance) आईआईटी (IIT) में आवेदन के लिए उम्मीदवारों एंट्रेंस परीक्षण (Entrance Exam) जी (JEE) के माध्यम से जाते है | जिसके माध्यम से आप देश में अच्छे कॉलेजों में भी प्रवेश के लिए आवेदन कर सकते हैं | प्रदर्शन के आधार पर आप राज्य रैंक (State Rank) और राष्ट्रीय रैंक (National Rank) दी जाती है। फिर अलग कॉलेजों में रैंक द्वारा निर्धारित मापदंड के आधार पर, राष्ट्रीय / राज्य स्तरों के लिए आवेदन कर सकते हैं।

भारत में इंजीनियरिंग के लिए टॉप विश्वविद्यालय / संस्थान:

  • IIT (इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी) मुम्बई, दिल्ली, कानपुर, चेन्नई, गुवाहाटी, खड़गपुर, रुड़की
  • NIT (नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी)
  • BITS Pilani (बिरला इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी एंड साइंस)
  • इंटरनेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ इनफार्मेशन एंड टेक्नोलॉजी हैदराबाद
  • NSIT (नेताजी सुभाष इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी) दिल्ली

इंजीनियरिंग में स्कोप / करियर:

हर क्षेत्र के इंजीनियर्स की दुनिया भर में काफी डिमांड है| और बहुत अच्छा अवसर है। वे हर सरकारी और निजी क्षेत्रों में काम करते हैं, लगभग किसी भी और हर उद्योग में, सॉफ्टवेयर कंपनियों में और इसके अलावा वे अपने स्वयं के व्यवसाय भी स्थापित कर सकते हैं। इनमें से जो भी तरह वे काम करने के लिए कामना करते हैं, पैसा और वर्तमान नियोक्ताओं के एक संतोषजनक राशि कमाई की गुंजाइश नहीं है | हर जगह के मुताबिक इंजीनियरिंग कैरियर के प्रारंभिक चरण में रुपये 20,000-25,000 वेतन हो जाता है |

इंजीनियरिंग के बाद नौकरियां (जॉब प्रोफाइल):

  • सिविल इंजिनियर
  • मैकेनिकल इंजिनियर
  • सॉफ्टवेर इंजिनियर
  • ऑटोमोबाइल इंजिनियर
  • इलेक्ट्रिकल इंजिनियर

इंजिनियर पूरा करने के बाद वेतनमान:

वर्तमान में हर जगह इंजिनियर कैरियर के प्रारंभिक चरण में न्यूनतम रुपये 20,000-25,000 वेतन होता हैं | और यह कॉलेज जिसमें से आप इंजिनियरिंग पूरा करके बाहर आते हैं, उस पर निर्भर करता है कि हमारी सामान्य वृद्धि किस प्रकार से है, यदि आपको नॉलेज अच्छा है तो, आपका वेतन और भी अधिक हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here